ओवरस्पीड ड्राइविंग से बचने के लिए Google Maps की Speed Limit Warning ऐसे करें शुरू

0
191

Google Maps का स्पीड लिमिट फंक्शन यूजर्स को उस सड़क की स्पीड लिमिट दिखाता है जिस पर वे चल रहे हैं। यदि वे दिखाई गई स्पीड लिमिट को पार कर रहे हैं तो उन्हें नोटिफिकेशन भी भेजा जाता है। यूं तो गूगल मैप यूजर को उस स्पीड के बारे में भी बताता है जिस स्पीड से वह चल रहा है मगर फिर भी सलाह देता है कि स्पीड चेक करने के लिए यूजर कार के स्पीडोमीटर को ही देखें। ऐप में स्पीडोमीटर केवल जानकारी के लिए है और यूजर्स को केवल इस पर भरोसा नहीं करना चाहिए। नेविगेट करते समय गति सीमा मैप के निचले बाएँ कोने पर दिखाई जाती है, जो बार के ठीक ऊपर होती है जो बाकी जानकारी के साथ ही पहुंचने का अनुमानित समय (ETA) भी दिखाती है।

गूगल मैप्स ने पहली बार 2019 में ऑन-स्क्रीन स्पीडोमीटर को यूजर्स के लिए उपलब्ध कराया था। तब यह एशिया, यूरोप, दक्षिण अमेरिका, यूके और यूएस के चुनिंदा यूजर्स के लिए उपलब्ध था। धीरे-धीरे, ऑन-स्क्रीन स्पीडोमीटर दुनिया भर में अधिक यूजर्स के लिए उपलब्ध कराया गया है। साथ ही Google उस क्षेत्र की स्पीड लिमिट भी दिखाता है जिसमें यूजर मौजूद है। हालाँकि, स्पीड लिमिट फ़ंक्शन वर्तमान में सभी क्षेत्रों में उपलब्ध नहीं है। यदि आपके क्षेत्र में स्पीड लिमिट फ़ंक्शन उपलब्ध है, तो यहां बताया गया है कि आप इसे कैसे एक्टिवेट कर सकते हैं। Google अपने यूजर्स को ऑन-स्क्रीन स्पीडोमीटर पर निर्भर न रहने की सलाह देता है

How to activate speed limits in Google Maps

Google Maps के लिए स्पीड लिमिट मैप के निचले बाएँ कोने में, सफर की अवधि, ETA, शेष किलोमीटर और नेविगेशन को बंद करने और पूरे रूट को दिखाने वाले ऑप्शन्स को डिस्प्ले करने वाले बार के ऊपर दिखाई जाती है। यहां बताया गया है कि आप इसे एंड्रॉयड स्मार्टफोन के लिए कैसे एक्टिवेट कर सकते हैं:

  1. Google Maps खोलें।
  2. ऊपरी दाएं कोने पर, प्रोफाइल पिक्चर या अपने इनिशिअल पर क्लिक करें।
  3. Settings में जाएँ।
  4. Navigation Settings तक स्क्रॉल डाउन करें।
  5. Speed Limits setting में जाकर इसे On/Off में चुनें।

यदि यूजर उस सड़क की स्पीड लिमिट से ऊपर गाड़ी चला रहा है तो गूगल मैप्स द्वारा उसे सूचित किया जाएगा। यानी कि यदि आपकी कार उस रोड की स्पीड लिमिट से अधिक गति पर है तो आपको इसके लिए नोटिफिकेशन भेजी जाती है।
हालांकि वर्तमान में टेक्नोलॉजी की एडवांस्मेंट के चलते एप्स द्वारा दी गई जानकारी पर कुछ हद तक भरोसा किया जा सकता है, मगर गूगल मैप्स फिर भी यूजर्स को यही सुझाव देता है कि यूजर्स अपने विवेक का इस्तेमाल करके ही सही निर्णय लें। इसलिए गूगल मैप्स कार स्पीड को स्पीडोमीटर में ही चेक करने की सलाह देता है।