भारत को 2026 तक 20 लाख EV के लिए 4 लाख चार्जिग स्टेशनों की जरूरत: रिपोर्ट – News18 Hindi

0
88
नई दिल्ली. भारत को अगले पांच सालों में यानि की वर्ष 2026 तक संभावित रूप से सड़कों पर चलने वाले 20 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) की आवश्यकता को पूरा करने के लिए लगभग 400,000 चार्जिंग स्टेशनों की आवश्यकता है. शनिवार को ग्रांट थॉर्नटन भारत-फिक्की (Grant Thornton Bharat-Ficci) की रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया गया.

ईवी उद्योग निकाय के अनुसार- इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माताओं की सोसायटी के अनुसार भारत में मार्च 2021 तक लगभग 16,200 इलेक्ट्रिक कारों के लिए 1,800 चार्जिंग स्टेशन हैं. रिपोर्ट में कहा गया है, “कुल मिलाकर, ईवी इंफ्रास्ट्रक्चर ईवी और चार्जिंग स्टेशन विशेषताओं, बैटरी प्रौद्योगिकियों और बिजली बाजारों के साथ कसकर जुड़ा हुआ है.”

ईवी लागत को कम करने के लिए ये सुझाव

“रिपोर्ट में एक सर्वेक्षण के हिस्से के रूप में आधे से अधिक हितधारकों ने इलेक्ट्रिक वाहन आपूर्ति उपकरण (ईवीएसई) की तैनाती और सीएसआर के रूप में ईवी चार्जिंग बुनियादी ढांचे के वर्गीकरण में डिस्कॉम की भागीदारी की भी सिफारिश की है. इसके अलावा, सर्वेक्षण ने भारत में ईवी लागत को कम करने के लिए प्रभावी लागत में कमी लीवर के रूप में डिजाइन सरलीकरण, साझेदारी और शहरी गतिशीलता के अनुकूलन का सुझाव दिया.
ग्लोबल सेल 3.1 मिलियन यूनिट हो गई

“वैश्विक निर्माताओं ने ईवी चार्जर्स की उपलब्धता और प्रभावकारिता में सुधार करने के लिए लाखों खर्च किए हैं, और इसके परिणामस्वरूप आज सबसे तेजी से रिचार्ज करने में 15 मिनट से अधिक समय नहीं लेते हैं.”2020 में ईवी की वैश्विक सेल 39 प्रतिशत से बढ़कर 3.1 मिलियन यूनिट हो गई, जबकि कुल यात्री कार बाजार में 14 प्रतिशत की गिरावट आई.

आने वाली पीढ़ी के बारे में भी उल्लेख

इसके अलावा, रिपोर्ट में एक नए उपभोक्ता के उभरने पर महामारी के प्रभाव के बारे में उल्लेख किया गया है जो स्वस्थ रहने, स्वच्छ हवा में सांस लेने और अगली पीढ़ी के लिए एक बेहतर, अधिक फैक्सिबल दुनिया बनाने के लिए उत्सुक है. ग्रांट थॉर्नटन के पार्टनर साकेत मेहरा ने कहा, “साल 2020 ने एक सहयोगी और एकीकृत प्रयास के माध्यम से विश्व स्तर पर उपलब्ध ताकत का उपयोग करके विद्युतीकरण और इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) के विकास को तेजी से ट्रैक करने के लिए एक बड़ी जिम्मेदारी और अवसर प्रस्तुत किया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.