Bhumi Pednekar, Always want films that portray women correctly

0
62
1 of 1

Bhumi Pednekar, Always want films that portray women correctly - Bollywood News in Hindi




मुंबई। अभिनेत्री भूमि पेडनेकर का कहना है कि वह ऐसी फिल्में करना चाहती हैं जो महिलाओं को सही ढंग से चित्रित करें। वह उन निर्देशकों की आभारी हैं जिनके साथ उन्होंने अब तक काम किया है। उन्होंने सामाजिक परिवर्तन के लिए समान ²ष्टिकोण भी साझा किया है। भूमि ने हिंदी सिनेमा में अपने सफर की शुरूआत 2015 में हिट फिल्म ‘दम लगा के हईशा’ से की थी। इसके बाद उन्हें ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’, ‘सोन चिड़िया’, ‘शुभ मंगल सावधान’, ‘बाला’ और ‘सांड की आंख’ जैसी फिल्मों में देखा गया।

अभिनेत्री अब अपनी आगामी लाइन अप का इंतजार कर रही है, जिसमें ‘मि. लेले’, ‘बधाई दो’ और ‘रक्षा बंधन’ शामिल है।

अभिनेत्री ने कहा, “मैं हमेशा अपनी फिल्म की पसंद के बारे में सुपर आश्वस्त रही हूं। मैं हमेशा चाहती हूं कि वे अलग और अद्वितीय हों, साथ ही उनमें एक संदेश हो, सबसे महत्वपूर्ण बात हो कि फिल्म में महिलाओं को सही ढंग से चित्रित किया गया हो।

भूमि ने कहा कि एक महिला के रूप में, मुझे लगता है कि यह मेरा कर्तव्य है कि मैं ऐसी स्क्रिप्ट चुनूं जो महिलाओं को बहुत गरिमा के साथ चित्रित करती हैं। मुझे खुशी है कि मुझे शानदार स्क्रिप्ट के कारण इस तरह के किरदार निभाने का मौका मिला है।

अभिनेत्री खुद को बेहद भाग्यशाली मानती हैं कि उन्हें ऐसे निर्देशक मिले हैं जिनके पास महिलाओं को एक निश्चित तरीके से चित्रित करने की अद्भुत ²ष्टि है, जो समाज को सकारात्मक रूप से प्रभावित करती है।

उन्होंने कहा कि मैं उन सभी अवसरों के लिए भाग्यशाली हूं, जिन्होंने मुझे ऐसे किरदार निभाने की अनुमति दी, जो अपने और समाज के लिए खड़े हुए। मैं अपने पात्रों से गहरे स्तर पर जुड़ी हूं, और शायद यही वजह है कि लोगों ने भी उन्हें प्यार किया है।

इसके लिए मैं अपने उन निर्देशकों और निमार्ताओं की ऋणी हूं, जिन्होंने मुझे पर्दे पर ऐसी आधुनिक भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व करने के लिए फिट देखा। (आईएएनएस)

ये भी पढ़ें – अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे