Jammu Kashmir News: AIR SHOW EXCITE KASHMIR STUDENTS TO BECOME FIGHTER PILOT: SRINAGAR Ann

0
52

Jammu Kashmir News: कश्मीर घाटी की फिजा कैसे बदल रही है उसकी गवाह बनी श्रीनगर की डल झील, जहां रविवार को वायुसेना के एयर-शो से प्रभावित होकर बड़ी तादाद में स्कूली छात्र-छात्राएं फाइटर पायलट बनने का ख्बाब संजोने लगे हैं. करीब 13 साल बाद कश्मीर घाटी में हुए इस एयर-डिसप्ले के बाद एबीपी न्यूज ने बड़ी संख्या में वहां मौजूद युवाओं से खास बातचीत की और सभी वायुसेना के जरिए देश सेवा करने के लिए बेहद रोमांचित नजर आए. आजादी के अमृत महोत्सव के लिए आयोजित वायु‌सेना के इस एयर-डिसप्ले का थीम ही था ‘गिव विंग्स टू योर ड्रीम्स’.

रविवार की सुबह से ही डल गेट से सटे शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कन्वेनशन सेंटर (एसकेआईसीसी) परिसर में बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं जुटना शुरू हो गए थे. वहां मौजूद लोगों को मंत्र-मुग्ध करने के लिए सुबह से ही एयरफोर्स का सिम्फनी बैंड परफॉर्म कर रहा था. श्रीनगर के आसमान में सुबह कुछ धुंध होने के चलते एयर-डिसप्ले थोड़ा देर से शुरू हुआ. लेकिन जैसे ही डल झील के आसमान में धूप फैली वैसे ही एसकेआईसीसी परिसर में मौजूद लोगों को रोमांचित करने के लिए मिग-21 बाइसन, सुखोई फाइटर जेट, चिनूक और मी-17 हेलीकॉप्टर सहित आकाशगंगा और सूर्यकिरण टीम ने अपने करतब शुरू कर दिए. शुरूआत हुई चीता हेलीकॉप्टर की रेकी से जिसे फ्लाई कर रही थीं एक महिला पायलट.

इस दौरान वहां मौजूद डीपीएस, श्रीनगर के स्टूडेंट्स ने एबीपी न्यूज से खास बातचीत में कहा कि वे वायुसेना के पायलट्स की बहादुरी और जोखिम-भरे स्टंट के मुरीद हो गए. छात्र-छात्राओं ने कहा वे आज के एयर-शो से बेहद प्रभावित हैं और वायुसेना में शामिल होकर देश सेवा करना चाहते हैं. कुछ छात्र-छात्राएं तो फाइटर पायलट बनाना चाहते हैं.

कुछ छात्र-छात्राओं को सुखोई फाइटर जेट की त्रिशूल फोर्मेशन और मैन्युवर पसंद आए तो कुछ को डल झील पर ‘होवर’ करता चिनूक हेलीकॉप्टर, तो कुछ को सूर्यकिरण टीम की ‘सिंक्रेनाइजेशन’ जिसमें नौ ( 09) हॉक एयरक्राफ्ट एक साथ एक ही तरह से उड़ान भरते हुए करतब दिखा रहे थे.

इस दौरान एयर शो में हिस्सा ले चुके वायुसेना के पायलट और अधिकारियों ने भी बताया कि इस एयर शो का मकसद कश्मीर के नौजवानों को मुख्यधारा में लाकर वायुसेना में करियर बनाना है.