PM Kisan Yojana 2022: इन कारणों की वजह से आपके खाते नही पहुचती पीएम किसान योजना राशि, सुधारे इन गलतियों को

0
25
PM Kisan Yojana 2022

पीएम किसान योजना को लेकर कोई समस्या होने पर आधिकारिक ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर संपर्क कर सकते हैं। आप पीएम किसान योजना के हेल्पलाइन नंबर- 155261 या 1800115526 (टोल फ्री) या 011-23381092 पर संपर्क कर सकते हैं।

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Update : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत सरकार किसानों को हर साल 6 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देती है। यह राशि प्रत्येक 4 माह के अंतराल पर तीन किश्तों में किसानों के खाते में भेजी जाती है। किसानों को 12 किस्तें ट्रांसफर की जा चुकी हैं। 13वीं किस्त अब जनवरी के पहले सप्ताह में ट्रांसफर की जानी है।

यदि आप पात्र नहीं हैं तो अपना नाम जांचें
बता दें कि अगर आपने इस योजना का रजिस्ट्रेशन कराते समय गलत जानकारी भी भरी है तो भी इस योजना की राशि आपके खाते में नहीं पहुंचेगी। अगर आप पीएम किसान योजना की लाभार्थी सूची में अपना नाम देखना चाहते हैं तो आप आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना नाम लाभार्थी सूची में देख सकते हैं। यहां ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर चेक कर लें।

> सबसे पहले पीएम किसान योजना की ऑफिसियल वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं।
> और फिर उसके बाद होम पेज पर दायीं तरफ ‘Farmers Corner’ सेक्शन पर क्लिक करें.
> और फिर उसके बाद फार्मर्स कॉर्नर सेक्शन में ‘लाभार्थी स्थिति’ विकल्प पर क्लिक करें।
> अब उसके बाद पीएम किसान अकाउंट नंबर या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प को चुनें।
> फिर उसके बाद  विवरण भरने के बाद ‘डेटा प्राप्त करें’ पर क्लिक करें।
> अब उसके बाद आपको स्क्रीन पर अपना स्टेटस दिखाई देगा।

यहाँ संपर्क करें
पीएम किसान योजना को लेकर कोई समस्या होने पर आधिकारिक ईमेल आईडी pmkisan-ict@gov.in पर संपर्क कर सकते हैं। पीएम किसान योजना के हेल्पलाइन नंबर- 155261 या 1800115526 (टोल फ्री) या 011-23381092 पर भी संपर्क किया जा सकता है। यहां भी इस योजना से जुड़ी हर समस्या का समाधान किया जाएगा।

बता दें कि ई-केवाईसी और जमीन के रिकॉर्ड का सत्यापन नहीं कराने वाले किसान पीएम किसान योजना की किस्त से वंचित हो जाएंगे. अगर आप अपने खाते में 13वीं किस्त चाहते हैं तो पीएम किसान योजना की वेबसाइट पर जाकर ई-केवाईसी प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करें। ऐसा नहीं करने वाले किसानों के खातों में इस योजना की राशि नहीं भेजी जाएगी।