SEBI Give Approval Gold Exchange, Gold Can Be Trade Like Share Market – गोल्ड एक्सचेंज को मिली मंजूरी, शेयरों की तरह खरीद और बेच सकेंगे सोना

0
166

जिस तरह शेयर बाजार में कंपनियों के स्टॉक्स की खरीदारी करने के बाद निवेशक के डीमैट अकाउंट में शेयर आने में दो दिन लगते हैं, उसी तरह सोने को खरीदार तक पहुंचने में एक से दो दिन का समय लगेगा।

नई दिल्ली। बाजार नियामक सेबी ने स्पॉट गोल्ड एक्सचेंज यानी हाजिर सोने की खरीद-बिक्री के लिए बाजार शुरू करने की मंजूरी दे दी है। यह गोल्ड एक्सचेंज सामान्य स्टॉक एक्सचेंज की तरह ही काम करेगा, जहां हाजिर सोना (स्पॉट गोल्ड) खरीदा और बेचा जा सकेगा। वायदा सोना की ट्रेडिंग अभी एमसीएक्स पर होती है, लेकिन इस गोल्ड एक्सचेंज में लोग हाजिर और जेवराती सोना खरीद और बेच सकेंगे। इसका नाम इलेक्ट्रॉनिक गोल्ड रिसीप्ट (EGR) रखा गया है।

ऐसे करेगा काम
जिस तरह शेयर बाजार में कंपनियों के स्टॉक्स की खरीदारी करने के बाद निवेशक के डीमैट अकाउंट में शेयर आने में दो दिन लगते हैं, उसी तरह सोने को खरीदार तक पहुंचने में एक से दो दिन का समय लगेगा। निवेशक चाहें तो फिजिकल डिलीवरी नहीं लेने का फैसला कर सकते हैं और भाव में तेजी आने पर मुनाफा कमाने के लिए इसे वहीं बेच भी सकते हैं।

यह भी पढ़ें : तीन बैंकों की चेकबुक अगले माह से हो जाएंगी अमान्य, ये काम करें जल्द

टैक्स भी देना होगा
सोने की फिजिकल डिलीवरी नहीं लेने पर इसे एक इलेक्ट्रॉनिक वॉल्ट में रखा जाएगा, जिसका खर्च निवेशक उठाएंगे। सोने को सिक्योरिटी की तरह रखने पर सिक्योरिटीज ट्रांजेक्शन टैक्स लगेगा, जैसा कि शेयर की ट्रे़डिंग पर लगता है। वहीं, इसे फिजिकल गोल्ड में बदलने पर जीएसटी लगेगा।

इस तरह होगी ट्रेडिंग
गोल्ड एक्सचेंज पर सोने की ट्रेडिंग एक किलो, सौ ग्राम और 50 ग्राम के ट्रेडिंग स्लॉट में होगी। वहीं, पांच ग्राम और दस ग्राम का भी ईजीआर होगा परन्तु डिलीवरी न्यूनतम 50 ग्राम सोने की होगी।

यह भी पढ़ें : Covid-19: केंद्र सरकार ने 31 अक्टूबर तक जारी की नई गाइडलाइंस, अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द

आम जनता को मिलेंगे ये फायदे
स्पॉट गोल्ड एक्सचेंज में हर समय सोने की खरीद-बिक्री हो सकेगी। इससे लोगों को सोने के सही दाम का पता चल सकेगा। भारत में अभी सोने के दाम हर शहर में अलग-अलग होते हैं। साथ ही इनकी कीमत ज्वैलर्स तय करते हैं लेकिन एक्सचेंज शुरू होने से मांग के आधार पर सोने की कीमतें तय होंगी। गोल्ड एक्सचेंज में ट्रेड से सोने का जो मूल्य पता चलेगा उसे इंडिया गोल्ड प्राइस कहा जाएगा।